Wednesday, July 28, 2010


दुनिया वाले कह रहे है साजिशो से पायी है

हमने ये जिंदा दिली तोह ख्वाहिशो से पाई है

कामयाबी पर हमारी जल रहा है क्यों यह जहाँ

कामयाबी हमने अपनी ख्वाहिशों से पाई है

3 comments:

raaaj said...

kitna sach hai palak.....

संजय भास्कर said...

very nice palak ji

sunil said...

Musibatone koi kasar nahi chhodi hume mitane ki....jine ki "aarjoo" humne "khwaisho" se paayi hai.....